What is Article 370 – Full Explain in Hindi

What is Article 370 – Full Explain in Hindi

What is Article 370 – Full Explain in Hindi: Article 370 हमारे देश के  Home Minister Amit Saha जी ने जब पुरे India मे Article 370 Aur Article 35A को पुरी तराह से हटाने का एलान कीया, तब से इसी बाद पे ही चर्चा हो रही है । यह कोइ आम  घोषणा नही थी , बल कि यह एक ऐतिहासिक घोषणा थी  जिसे 05 August 2019 को लिया गया था ।

लेकिन अब सवाल उठे है की  Article 370 इतना मह्त्पुर्ण क्यो है । Yasi apko bhi isi bixoy me janna hei tab Pehle apko Article 370 अच्छी तराह से समजना होगा ।

Article 370 Jammu Aur Kashmir Ko Kuch bises Adhikar Pradan Karta hei .par aysa kyu tha , kidney ise laghu kiya in sabhi jankari ke liye aapko is post ko Pura panda hoga . tabhi Aap Jaan paawoge ki Article 370 hei kya? to chaliye post ko suru karte hei.

Article 370 Kya Hei (What is Article 370 in Hindi)

What is Article 370

Article 370 एक बहत ही special Article है, Jo ki kisi rajjya par laghu hoti hei tab ye us rajjua ko aur whoa par base in nagarik ko bahut sari subidha pradan karti hei.

इस article मे स्पष्ट रुप से Darshaya gaya ki yadi kisi rajjya par lagu hota hei tab us rajjya ki kabol Raksha ,bideshi maple me ya phir kisi mambo ko hi kendriya Sarkar dwara sampadan kiya  Jaya hei, wohi baki sabhi chiz par kandro ka kuch bhi jhor hota hei aur baki sabhi chize rajjya Sarkar hi Tay karti hi hei.

Article 370 का इतिहास

जम्मु और कश्मीर ka Apna sanbidhan ka main Karon hi Article 370 aur iska proshashan rajjya Sarkar dwara chalaya jata tha na ki Bharath sanbidhan ke anusar. Article 370 को 17 November 1952 से लागु किया गया था ।

यह अनुच्छद राज्य सभा अपना संबिधान बनाने का अनुमति देता है ।  जिससे इसे “वाय राय” श मलती है.
वह येखुद के बत सेकानून बना सकता हैजसके लए उहक सरकार सेपरामशकरनेक भी जरत नह होती है । इतना ही नह सुीम कोटका भी Article 370 वाले अधसाहत राय पर भी कोई नयम लागुनह होता ह.ै यूँकहतो एक
ही रा तलेदो संवधान और दो तरंगा का होना है.

Article 370 कब लागु किया गया था ?

Article 370 को 17 November 1952 से लागु किया गया था ।

Article 370 क्यु लाया गया था

येबात तक भी हैजब भारत को आजाद मलनेके बाद अगत 15, 1947 को जमूऔर कमीर भी आजाद हो गया था.
फर भारत के पहलेवेनर Lord Mountbatten नेसभी रयाशत को येछुट देद क वो चाहतो भारत केसाथ मल
सकतेहया अपनी ही वतं राय कायम रख सकतेह. अब उस सामाय जमूऔर कमीर के राजा हर सह नेसबसेपहले
भारत सेमलना पर इंकार कर दया और वो अपनी रयासत को वत राय ही रखना चाहतेथे.
इस बात पर पाकतान को एक बड़ा मौका दखाई पड़ा कमीर को हथयानेका, जसके लए उसने20 अटूबर, 1947 को
पाकतान समथत ‘आजाद कमीर सेना’ नेपाकतानी सेना केसाथ मलकर कमीर पर आमण कर दया और परणाम
वप काफ हसा हथया लया था.
इस परथत ममहाराजा हर सह नेजमू& कमीर क रा के लए भारत सेमदद मांगी. लेकन भारत नेभी अपनेकुछ
सतरखेउहमदद करनेके लए. वह शेख़ अला क सहमत सेजवाहर लाल नेह केसाथ मलकर 26 अटूबर 1947
को भारत केसाथ जमू& कमीर के अथायी वलय क घोषणा कर द और “Instruments of Accession of
Jammu & Kashmir to India” पर अपनेहतार कर दये.
इस नयेसमझौतेके तहत जमू& कमीर को एक वशेष श दान क गयी थी. यहाँजमूकमीर को एक special
status का दजादान कया गया था. वह जमूऔर कमीर, भारत केसाथ केवल तीन वषय: जो क हरा, वदेशी
मामलेऔर संचार को ही भारत के हवालेकर दया था. वह इनक सरेकसी भी मामलेपर भारत हतायेप नह कर सकता
था.
समझौतेपर हतार करनेके बाद भारत सरकार नेअपनेवादा के अनुप ही इस राय केलोग को अपनेवयंक संवधान
सभा बनानेक अनुमत दान करी थी.

वह इस तबता केसाथ आटकल 370 को भारत केसंवधान मशामल कया गया था. जसमयेबात प प सेकहा
गया हैक जमू&कमीर राय केसंबंध मयेावधान केवल अथायी (temporary) हे।

Article 370 जम्मु और कश्मीर के नागरिकों को कौन से अधिकार और सुबिधाए प्रदान करता था

चलिए अब जानते हे कि Article 370, जमूऔर कमीर के नागरक को कौन सेअधकार और सुवधाएंदान करता ह.ै
1. इस article के अनुसार जमू& कमीर के राय सरकार क अनुमत बना इसका नाम, ेफल और सीमा को क
सरकार बदल नह सकता है.
2. वह क सरकार केवल रा, वदेशी मामलेऔर संचार के कानून बना सकता हैवह बाक सभी कानून को लागूकरनेके
लए क सरकार को राय सेमंजूरी लेनी पड़ती है.
3. जमू& कमीर का अपना ही संवधान हैऔर इसका शासन इसी के अनुसार चलाया जाता हैना क भारत केसंवधान
के अनसार ु .
4. जमू& कमीर के पास 2 झडेह.एक कमीर का अपना राीय झंडा हैऔर वह भारत का तरंगा झंडा यहाँका राीय
वज है.
5. भारत के सरेराय के नागरक इस राय मकसी भी तरीके क संप नह खरीद सकतेह.
6. कमीर केलोग को दोहरी नागरकता मली ई है; एक कमीर क और सरी भारत क.
7. यद कोई कमीरी महला कसी भारतीय सेशाद कर लेती हैतो उसक कमीरी नागरकता वह ख़म हो जाती हैलेकन
यद वह कसी पाकतानी सेशाद कर लेती हैतो उसक कमीरी नागरकता पर कोई फक नह पड़ता ह.ै
8. इतना ही नह यद कोई पाकतानी लड़का कसी कमीरी लड़क सेशाद कर लेता हैतो उसको अपनेआप ही भारतीय
नागरकता मल जाती ह.ै
9. आम तोर सेयेनयम हैक अगर कोई भारतीय नागरकता को छोड़ कसी सरेदेश क नागरकता लेलेता हैतब ऐसेम
उनक भारतीय नागरकता वह ख़म हो जाती है.लेकन जब कोई जमू& कमीर का नवासी पाकतान चला जाता हैऔर वो कभी वापस जमू& कमीर आ जाता हैतो
उसको बारा भारत क नागरकता मल जाती है.
10. जमूएडं कमीर मभारत के राीय तीक (रागान, राीय वज इयाद) का अपमान करना अपराध क ेणी मनह
आता है.
11. यहाँपर आटकल 370 के कारण ही क; राय पर वीय आपातकाल (अनुछेद 360) जैसा कोई भी कानून नह लगा
सकता है.
12. भारत केसंवधान मकसी कार का संशोधन जमू& कमीर पर वतः लागूनह होता हैजब तक क इसेरापत के
वशेष आदेश ारा लागूकरनेक अनुमत ना द जाये.
13. इस राय क सरकारी नौकरय मसफ इस राय के परमानट नागरक का ही सलेशन हो सकता है, वह इसके
अलावा यहाँराय क कॉलरशप भी यहाँकेलोकल लोग को ही मलती ह.
यहाँपर ऊपर बतायेगए तय सेयह बात प हो जाती हैक जमू& कमीर भारतीय संघ का एक राय तो हैलेकन इस
राय केलोग को कुछ वशेष अधकार दए गए हजो क भारत के अय राय को नह दान कयेगए ह

Article 370 को कब हटाया गया?

Article 370 और Artice 35A को पूणप सेक सरकार ारा सोमवार (6 अगत 2019) को पूणप सेभारतीय
संवधान सेसमात कर दया गया. वह जमूएवंकमीर को दो हस मबांट दया गया है.
इसमदोन जमूकमीर और लाख को क शासत देश बनाया गया है. अनुछेद 370 को हटानेका संकप, कय गहृ
मंी अमत शाह नेरायसभा मपेश कया था. इसकेसाथ ही जमूएवंकमीर क वशेष राय होनेका दजाभी वह समात
हो जाता है. यह भी बाक के क शासत देश के तरह ही होगा

Article 370 हचा देने पर इससे जम्मु और कश्मीर पर क्या असर होगा

बत सेलोग के मन मयेचता जर होगी क Article 370 के हटनेपर जमूकमीर पर इसका या असर होनेवाला ह.ै
चलए इसी वषय मकुछ जानकारी ात करतेह.
– जमू-कमीर को वो वशेष राय का दजानह ात होगा जो क पहलेात होता था.
– अब भारत के सरेराय के नागरक भी बना कसी परेशानी सेजमू-कमीर मजमीन खरीद सकगे.
– अब जमू-कमीर मभी पूरेभारत सेनवेश बढ़ेगा. जो क पहलेबलकुल ही मुमकन नह था इनके राय सरकार के
नयम के वजह से.
– अब यहाँक महलाएं सरी राय केलड़क केसाथ साद कर सकती हैवह ऐसेमउनक नागरकता या संप कुछ भी
नह खम होगी.
– जमू-कमीर मअब अलग सेराय का संवधान नह चलेगा.
– जमू-कमीर मअब एक ही झंडा फहराएगा जो क तरंगा होगा

– अब कमीर सेनकालेगए कमीरी पंडत क वापसी आसानी सेहो सकेगी.
– जो काननू पूरेभारत मलागूहोतेहअब वह कानून जम-ूकमीर मभी लागूहगे.
– जमू-कमीर मकाननू वथा का पूरा नयंण अब क के हाथ महोगा.
– जमू-कमीर मअब राय सरकार उस तरह काम करेगी जस तरह दली राय मचलती ह.ै
– भारत के राीय तीक का अपमान एक अपराध माना जायेगा.
– यहाँपर यद बाहरी companies अपनेपैसेinvest करगी तब यहाँपर रोजगार के कई अवसर बढ़गे.
– अब यहाँपर क सरकार ारा चलायी गयी येक scheme का लाभ पूणप सेलोकल नागरक तक आसानी सेपँच
सकेगा.

 

Leave a Comment

Translate »